Amazon Deals

सोमवार, 2 जनवरी 2012

स्वागत २०१२

दो हजार ग्यारह
हुआ नौ दो ग्यारह
कहीं लाया खुशियाँ ही खुशियाँ
कहीं छोड़ गया सिर्फ गम ही गम

दो हजार बारह आया है
देखना है
अपने पिटारे में
क्या क्या भरके लाया है

सोचना क्या
जो भी होगा देखा जायेगा
अभी तो बस यही शुभेच्छा है
दो हज़ा बारह
में
सबकी हो पौ बारह